Dil Ka Dariya Beh Hi Gaya | Lyrics Song | Kabir Singh | Lyrics

Dil Ka Dariya Beh Hi Gaya | Lyrics Song | Kabir Singh | Lyrics 


Song : Dil ka Dariya Beh hi Gaya
Artist : Arijit Singh 
Album : Kabir Singh 



Dil Ka Dariya Beh Hi Gaya | Lyrics in Hindi 



दिल का दरिया बह ही गया
इश्क़ इबादत बन ही गया
खुद को मुझे तू सौंप दे
मेरी ज़रुरत तू बन गया

बात दिल की नज़रों ने की
सच कह रहा तेरी कसम

तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम

तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम
तुझे कितना चाहने लगे हम
बात दिल की नज़रों ने की
सच केह रहा तेरी कसम
तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम

तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तुझे कितना चाहने लगे हम
इस जगह आ गई चाहते अब मेरी
छीन लूँगा तुम्हे सारे दुनिया से ही
तेरे इश्क़ पे हाँ हक़ मेरा ही तो है
केह दिया है ये मैंने मेरे रब से भी
Dil Ka Dariya Beh Hi Gaya | Lyrics Song | Kabir Singh | Lyrics

जिस रास्ते तू ना मिले
उसपे न हो मेरे कदम
तेरे बिन ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तुझे कितना चाहने लगे हम

तुझे कितना चाहने लगे हमदिल का दरिया बह ही गया

इश्क़ इबादत बन ही गया
खुद को मुझे तू सौंप दे
मेरी ज़रुरत तू बन गया
बात दिल की नज़रों ने की
सच कह रहा तेरी कसम

तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम
तुझे कितना चाहने लगे हम
बात दिल की नज़रों ने की
सच केह रहा तेरी कसम

तेरे बिन अब ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तुझे कितना चाहने लगे हम

इस जगह आ गई चाहते अब मेरी
छीन लूँगा तुम्हे सारे दुनिया से ही
तेरे इश्क़ पे हाँ हक़ मेरा ही तो है
केह दिया है ये मैंने मेरे रब से भी
जिस रास्ते तू ना मिले

उसपे न हो मेरे कदम
तेरे बिन ना लेंगे एक भी दम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तेरे साथ हो जाएंगे ख़तम

तुझे कितना चाहने लगे हम
तुझे कितना चाहने लगे हम
तुझे कितना चाहने लगे हम

Post a Comment

0 Comments